इस साल मस्जिद-ए-नबवी में इफ्तारी कराने पर पाबंदी लगा दी गई है

मस्जिद-ए-नबवी प्रशासन ने खबर दी है कि इस साल रमजान के दौरान मस्जिद-ए-नबवी में इफ्तार दस्तरखान नहीं लगाए जाएंगे यह फैसला कोरोना वायरस से बचने के लिए एहतियाती तदबीर के तौर पर किया गया है अकाज عکاظ अख़बार के अनुसार मस्जिद-ए-नबवी शरीफ के प्रशासन ने इफ्तार दस्तरखान लगाने वालों के नाम अपने संदेश में कहा है कि हमें इस बात का एहसास है कि आप लोग खैर और बरकत के महीने में अजर और सवाब की नीयत से रोजा रखने वालों को इफ्तार कराने के लिए दस्तरखान लगाते थे. 

प्रशासन की तरफ से जारी संदेश में यह भी कहा गया है कि हम आपकी जानकारी में यह बात लाना चाहते हैं इस साल 1441 हिजरी के रमजान के दौरान मस्जिद-ए-नबवी में इफ्तार दस्तरखान का प्रोग्राम स्थाई रूप से निलंबित किया गया है यह फैसला कोरोना वायरस कि वबा से पैदा होने वाले हालात को देखते हुए किया गया है. 
याद रहे सऊदी अरब में रमजान के महीने में मस्जिद-ए-नबवी शरीर और हरम मक्की में लोगों को इफ्तार कराने के लिए बड़े पैमाने पर लोग अपनी तरफ से इफ्तार का इंतजाम किया करते थे. 
रमजान में इफ्तारी कराने के लिए विदेशों से भी बड़ी संख्या में लोग शिरकत करते हैं इस हवाले से अनुमति के लिए मस्जिद-ए-नबवी शरीफ के प्रशासन को दरखास्त दी गई तो वहां से जवाब में बताया गया कि इस साल अभी तक कोरोनावायरस की वजह से हालात काबू में नहीं है जिसकी वजह से इफ्तार दस्तरखान का सिलसिला स्थाई रूप से स्थगित कर दिया गया है लेकिन जैसे ही हालात बेहतर होंगे इस बारे में खबर कर दी जाएगी. 

अपना कमेन्ट लिखें

कृपया कमेंट बॉक्स में किसी भी स्पैम लिंक को दर्ज न करें।

नया पेज पुराने
Sidebar ADS

asbaq.com

हिन्दी न्यूज़ की लेटैस्ट अपडेट के लिए हमे टेलीग्राम पर जॉइन करें

क्लिक करके जॉइन करें