किन लोगों या किन क्षेत्रों को कर्फ्यू से छूट मिली है?

किन लोगों या किन क्षेत्रों को कर्फ्यू से छूट मिली है?

सऊदी ग्रह मंत्रालय ने बयान जारी कर बताया है कि किन क्षेत्रों को कर्फ्यू से छूट मिलेगी।
सऊदी समाचार एजेंसी (वास) के अनुसार, ग्रह मंत्रालय ने कहा है कि “ख़ादिम हरमैंन शरीफैन शाह सलमान बिन अब्दुल अजीज ने कोरोना वायरस के प्रसार को नियंत्रण करने, नागरिकों और विदेशियों की स्वास्थ्य और सुरक्षा की ख़ातिर सोमवार 23 मार्च की शाम से 21 दिन के लिए राज्य भर में  कर्फ्यू लगाने का आदेश दिया है  जो प्रतिदिन शाम 7 बजे से सुबह 6 बजे तक जारी रहेगा।
ग्रह मंत्रालय ने कहा है कि "कर्फ्यू से देश में बुनियादी आवश्यकताओं को प्रदान करने वाले क्षेत्रों को छूट दी गई है, जिसका विवरण घोषणा में स्पष्ट किया गया है"।

मंत्रालय ने कहा कि 'खाने पीने का सामान परदान करने वाले क्षेत्र पर कर्फ्यू की वजह से कोई फर्क नहीं होगा जिस में  सुपरमार्केट, बकाले, सब्जी की दुकानें, मुर्गी, मांस और रोटी विक्रेताओं सहित कर्फ्यू से छूट दी जाएगी।'
मंत्रालय ने कहा कि "स्वास्थ्य क्षेत्र को भी छूट है, जिसमें फार्मेसी, पॉलीक्लिनिक्स, अस्पताल, लेबारट्री, एक्स-रे और चिकित्सा क्षेत्र के कारखाने शामिल हैं"। ट्रेंडिंग कर्फ्यू का उल्लंघन करने पर 10,000 रियाल का जुर्माना
ग्रह मंत्रालय ने खबरों के संसाधन के सभी क्षेत्रों में कर्फ्यू में छूट दी है।
बयान में कहा गया है कि, "परिवहन क्षेत्र को कर्फ्यू से छूट दी गई है, जिसमें सामान लाना, लेजाना, गोदाम में रखना या निकालना, लॉजिस्टिक सपोर्ट परदान करना और फूड या मेडिकल सामान लेजाना शामिल है।"
ग्रह मंत्रालय ने ई-कॉमर्स क्षेत्रों को कर्फ्यू से मुक्त करते हुए कहा है कि "ई-कॉमर्स के जरिये खरीदारी, बिक्री और होम डिलीवरी में काम करने वाले शामिल हैं।"
कर्फ्यू से हाउसिंग सुविधा परदान करने वाले छेत्रों को भी छुट दी गई है, जिसमें होटल और फर्नीश्डअपार्टमेंट शामिल हैं।
ग्रह मंत्रालय के बयान में कर्फ्यू के दौरान ऊर्जा क्षेत्र को भी अनुमति दी गई है, जिसमें पेट्रोल पंप, बिजली कंपनी के कर्मी और बिजली कट जाने की हालत में उसको सही करने वाला दल शामिल है। इसे भी पढ़ें परवासियों के लिए बड़ी खबर "फ़ाइनल एक्ज़िट और एक्ज़िट री एन्ट्री वीज़ा रद्द करवालें" अन्यथा होगा जुर्माना
ग्रह मंत्रालय ने कहा है कि "बीमा क्षेत्र में काम करने वाले लोग कर्फ्यू के दौरान काम कर सकते हैं, जिसमें यातायात दुर्घटनाओं के दौरान सेवा देने वाली कंपनियां, साथ ही चिकित्सा बीमा मंजूरी देने वाले कर्मी भी शामिल हैं।"
ग्रह मंत्रालय ने कहा है कि “जल छेत्र में काम करने वाले कर्मियों को कर्फ्यू के दौरान काम करने की अनुमति होगी, जिसमें घरों में पानी की सप्लाई के साथ-साथ जल आपूर्ति कंपनियों की टीम भी शामिल हैं जो लाइनें  को ठीक करने के लिए काम कर रहे हैं '।
ग्रह मंत्रालय ने कहा कि "कर्फ्यू के दौरान, कुछ क्षेत्रों के कर्मियों को वाहन चलाने की अनुमति दी जाएगी, जिसमें शांति सैनिक (अमन आम'मह), सैन्य विभाग (असकरी), कार्यवाहक कर्मी और स्वास्थ्य देखभाल कर्मी शामिल हैं।"
मंत्रालय ने कहा है कि 'कर्फ्यू के दौरान होम डिलीवरी छेत्रों को गाड़ी चलाने की अनुमति दी जाएगी, जिसमें खाने पीने के सामान के अलावा एप्लिकेशन से ख़रीदी जाने वाली चीजें घरों तक पहुंचाने वाले कर्मी भी शामिल हैं।

ग्रह मंत्रालय ने कहा है कि "मसाजिद के मुअज़्जीन को कर्फ्यू के दौरान मस्जिद में अज़ान देने के केलिए जाने और वापस आने की अनुमति है।"
ग्रह मंत्रालय ने सेफ़ारती कर्मचारियों को कर्फ्यू के दौरान अपने कार्यालयों में आने और जाने की अनुमति दी है।

अपना कमेन्ट लिखें

कृपया कमेंट बॉक्स में किसी भी स्पैम लिंक को दर्ज न करें।

नया पेज पुराने
Sidebar ADS

asbaq.com

हिन्दी न्यूज़ की लेटैस्ट अपडेट के लिए हमे टेलीग्राम पर जॉइन करें

क्लिक करके जॉइन करें