जिन्नाह की तस्वीर पर बवाल बेकार का मुद्दा - एएमयू वाइस चांसलर

मुंबई हाई कोर्ट और साबरमती आश्रम समेत कई जगहों पर भी जिन्नाह की तस्वीर लगी है अब तक किसी को इन तस्वीरों से कोई परेशानी नहीं हुई


नई दिल्ली: अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (a m u) के वी सी  तारिक मंसूर ने यूनिवर्सिटी में मोहम्मद अली जिन्नाह की तस्वीर को लेकर खड़े हुए बवाल को बेकार का मुद्दा बताया है। न्यूज़ एजेंसी एएनआई से बात करते हुए उन्होंने कहा यहां जिन्नाह की तस्वीर 1938 से लगी है। मुंबई हाई कोर्ट और साबरमती आश्रम समेत कई जगहों पर भी जिन्नाह की तस्वीर लगी है अब तक किसी को इन तस्वीरों से कोई परेशानी नहीं हुई मेरा मानना है कि यह बेकार का मुद्दा है।
प्रोफेसर मंसूर ने बुद्ध को राजनाथ सिंह से मुलाकात भी कि। वी सी ने यूनिवर्सिटी में मोहम्मद अली जिन्नाह की लगी तस्वीर को लेकर खड़े हुए बवाल के बीच तालीमी संगठनों से जुड़े मुद्दों पर बातचीत की।
बैठक के बारे में एक अफसर ने बताया कि वीसी ने कैंपस के हालत के बारे में गृह मंत्री को जानकारी दी।
इससे पहले मंगलवार को भी वि सी  ने जिन्नाह की तस्वीर के मामले को लेकर कैंपस में पर्दर्शन कर रहे छात्र-छात्राओं से कहा था कि वह एएमयु की इमेज खराब करने वालों की साजिश से बचें और अपनी पढ़ाई का नुकसान ना करें। हालांकि इस बात को स्टूडेंट यूनियन ने नहीं सुना वी सी ने छात्र-छात्राओं को लिखे अपने एक पत्र में उन से गुजारिश की है कि वह एएमयु  की इमेज को बर्बाद करने में लगी और स्टूडेंट के उज्जवल भविष्य  से खेल रही ताकतों के जाल में न फंसे।
उन्होंने इस पत्र में यह भी कहा कि छात्रों को अपने अध्ययन पर ध्यान देना चाहिए क्योंकि परीक्षाएं क़रीब हैं। यह स्पष्ट है कि 12 मई को एएमयू में विभिन्न पाठ्यचर्या की परीक्षाएं शुरू हो रही हैं।
हालांकि एएमयू स्टूडेंट यूनियन ने वी सी की इस अपील को ठुकराते हुए साफ कर दिया है कि उनकी मांग पूरी होने तक धरना प्रदर्शन जारी रहेगा। एएमयू के छात्रों ने मंगल की शाम हिंदू युवा वाहिनी के जरिए किए गए मारपीट  की जोडिशियल जांच कराने की मांग को लेकर बाब -ए-सैयद से कलेक्ट्रेट तक जुलूस निकालकर ह्यूमन चैन बनाने की कोशिश की। हालांकि एएमयू के सीनियर उस्तादों के समझाने पर स्टूडेंट ने अपनी इस स्कीम को बदल दिया।
कैंपस में शाम तक तनाव का माहौल रहा क्योंकि एएमयू में धरना प्रदर्शन करने वाले छात्रों ने ऐलान किया कि वह ह्यूमन चैन बनाएंगे इसके बाद यूनिवर्सिटी के पूरे इलाके में पुलिस तैनात कर दी गई और छात्रों को बताया गया कि उनको कैंपस से कलेक्ट्रेट तक ह्यूमन चैन बनाने की इजाज़त नहीं दी जाएगी।

अपना कमेन्ट लिखें

कृपया कमेंट बॉक्स में किसी भी स्पैम लिंक को दर्ज न करें।

नया पेज पुराने
Sidebar ADS

asbaq.com

हिन्दी न्यूज़ की लेटैस्ट अपडेट के लिए हमे टेलीग्राम पर जॉइन करें

क्लिक करके जॉइन करें