उर्देगान ने सीमा पार नई फ़ौजी कारवाई की धमकी दे दी

रजब तैयब उर्देगान इराक की पुरबी सीमा पर “ज़ैतून की साख” जैसे ओपरेशन कर सकते हैं


तुर्की के सदर रजब तैयब उर्द्गान ने ऐलान किया है कि उनका मुल्क नए फ़ौजी ऑपरेशंस करेगा उर्द्गान के मुताबिक यह फ़ौजी ऑपरेशन उसी तरह का होगा जो उत्तरी शाम में कुर्द जन्ग्जो और दहशतगर्दों के खिलाफ किए गए थे लेकिन उन्होंने यह नहीं बताया कि ऑपरेशन किस मुल्क में होगा।
रविवार के दिन इस्तांबूल में अपने सियासी प्रोग्राम के बारे में बात करते हुए उर्द्गान का कहना था कि “तुर्की अपनी सीमा को दहशतगर्दी  गिरोहों से पाक करने के लिए फुरात की ढाल और ज़ैतून की शाख जैसे नए ऑपरेशंस करेगा” आपको बता दें कि तुर्की में अगला इलेक्शन 24 जून को होगा।
तुर्की इसी साल जनवरी से शाम के उत्तर पश्चिम में कुर्द पीपल्ज़ प्रोटेक्शन यूनिट्स के जन्ग्जुओं के खिलाफ “ज़ैतून की साख” के नाम से ऑपरेशन में मसरूफ है अंकारा कुर्द पीपल्ज़ प्रोटेक्शन यूनिट्स को दहशतगर्दी तंज़ीम  मानता है।

अब से पहले तुर्की ने अगस्त 2016 से मार्च 2017 तक उत्तरी शाम में 10 दाइश और कुर्द पीपल्ज़ प्रोटेक्शन यूनिट्स के खिलाफ एक ऑपरेशन अंजाम दिया था जिसको “फुरात  की ढाल” का नाम दिया गया।
उर्देगान कई बार “ज़ैतूनकी शाख” ऑपरेशन को पूरब में इराक की सीमा तक फैलाने की धमकी दे चुके हैं इसके बावजूद की अमेरिका और फ्रांस के साथ फ़ौजी झड़प का ख़तरा है जिन्होंने अपनी फ़ौज मनबज में लगा रखी हैं तुर्की के राष्ट्रपति ने बार-बार बगदाद हुकुमत से मुतालबा भी किया कि उत्तरी इराक में कुर्दिस्तान वर्कर्स पार्टी के खिलाफ हरकत में आए अगर ऐसा नहीं करते तो तुर्की मदाखलत करेगा।
शाम में पीपल्ज़ प्रोटेक्शन यूनिट्स के खिलाफ हमले ने अन्क़रह और वाशिंगटन के बीच रिश्तों में कशीदगी को जन्म दिया जबकि इस कारवाई ने शाम के हवाले से तुर्की और रूस के दरमियान सहयोग को मजबूत करने में किरदार अदा किया
इस कारवाई ने तुर्की में सार्वजनिक भावनाओं को सरशार किया।
उर्देगान अब कानून साज़ और राष्ट्रपति इलेक्शन में इन जज्बात से फायदा उठाने का इरादा रखते हैं।
यह इलेक्शन नवंबर 2019 में होने थे लेकिन अब इन्हें 24 जून को करने का फैसला किया गया है।
उर्देगान ने रविवार के रोज़ अपना प्रोग्राम पेश करते हुए कहा कि “हमारा मकसद उन तमाम दहशतगर्द तंजीमों पर काबू पा कर उन्हें तारिख के कचरे दान में फ़ेंक देना है जो हम पर हमले करती हैं"।

अपना कमेन्ट लिखें

कृपया कमेंट बॉक्स में किसी भी स्पैम लिंक को दर्ज न करें।

और नया पुराने
Sidebar ADS

asbaq.com

हिन्दी न्यूज़ की लेटैस्ट अपडेट के लिए हमे टेलीग्राम पर जॉइन करें

क्लिक करके जॉइन करें