जानें यूएसबी-सी USB-C क्या है?

टेक्नालोजी की दुनिया में हर गुजरते समय के साथ नई प्रगति होती रहती है। जहाँ एकओर नए नए सॉफ्टवेयर विकसित किए जा रहे हैं, वहीँ दूसरी तरफ हार्डवेयर में क्रांतिकारी परिवर्तन देखा जा रहा है। लेकिन एक चीज जो कम विकसित हो रही है वह है नेटवर्किंग डिवाइस। इन में कनेक्टर भी शामिल हैं। जिनमें से एक यूएसबी (USB) कनेक्टर भी है।
यूएसबी वास्तव में यूनिवर्सल सीरियल बस (Universal Serial Bus) का संक्षिप्त रूप है। यह कनेक्टर मुख्य रूप से दो उपकरणों को कनेक्ट, चार्जिंग और डेटा ट्रांसमिशन जैसे कामों के लिए उपयोग किया जाता है। पिछले कुछ दशकों से यूएसबी (USB) पोर्ट एक जैसा ही है। हालांकि, इस में डेटा ट्रान्सफर गति और आकार के हवाले से मामूली बदलाव भी किया गया है। जिन्हें यूएसबी 2.0 और माइक्रो यूएसबी के रूप में भी जाना जाता है।
लेकिन पिछले कुछ महीनों से यूएसबी-सी (USB-C) का चर्चा सुनने में आ रहा है। चूंकि यूएसबी-सी (USB-C) नए फ्लैगशिप फोन और लैपटॉप का अभिन्न हिस्सा बनता जारहा है। हालांकि बहोत कम  पाठकों को पता होगा की आखिर यह यूएसबी-सी क्या है?

तो आइये इस लेख में हम आपको यूएसबी-सी के बारे में बताते हैं।

-एयूएसबी-सी USB-C क्या है?

यूएसबी-सी असल में कनेक्टर की दुनिया में एक नया इज़ाफा है, जिसका उपयोग चार्जिंग और कनेक्टिविटी के लिए किया जाता है। इसे  यूएसबी फोरम की तरफ से विकसित किया गया है। इस मंच में 700 से अधिक कंपनियां शामिल हैं। इन कंपनियों में ऐप्पल, डेल, एचपी, इंटेल, माइक्रोसॉफ्ट और सैमसंग जैसी बड़ी कंपनियां शामिल हैं। तो यह कहा जा सकता है की इस मंच द्वारा निर्धारित स्टेंडरड दुनिया भर की सॉफ्टवेर और हार्डवेयर कंपनियों के लिए स्वीकार्य और उपयोगी हैं।

-यूएसबी-सी USB-C का आकार कैसा है?

यूएसबी-सी जाहिर तौर पर पुराने माइक्रो यूएसबी की तरह दिखता है, जीस से आप अपने स्मार्टफोन से अच्छी तरह से परिचित हैं। लेकिन यह इस से मोटाई में अधिक है क्योंकि इसकी विशेषताएं भी पुराने कनेक्टर से अधिक हैं। दूसरा बड़ा अंतर यह है कि इसकी पिन की बनावट सामान्य रखी गई हैं। इसी प्रकार दो कनेक्टर को जोड़ने वाला तार दोनों तरफ सामान्य रूप से डिज़ाइन किया गया है। इस कनवर्टर से जुड़ने के लिए आपको यह नहीं देखना होगा कि आप तार की कौन सी साइड डाल रहे हैं। यों कह लें कि अब आप तार को सीधा या उल्टा जोड़ने के झंझट से मुक्त हो जाएंगे। जिस से आपको 20 साल तक सामना करना पड़ा था।

-क्या इसे यूएसबी 3.0 से जोड़ा जा सकता है?

हां बिल्कुल,  वास्तव में यूएसबी-सी को हम यूएसबी का 3.1 वर्ज़न कह सकते हैं। इसे पुराने कनेक्टर से जोड़ा जा सकता है। हालांकि इसके लिए आपको एडाप्टर की आवश्यकता होगी। ये एडाप्टर कई लैपटॉप और स्मार्टफोन में  साथ ही आते हैं। जिन में यूएसबी-सी का उपयोग किया गया हो। जबकि कुछ फोन के लिए इसे अलग से खरीदना पड़ता है।

-यूएसबी-सी की बुनियादी विशेषताएं क्या हैं?

यूएसबी-सी कनेक्टर की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि यह प्रति सेकंड 10 गीगाबाईट की गति से डेटा ट्रान्सफर कर सकता है। यह यूएसबी 3.0 से दोगुनी रफ़्तार है। इसके अलावा यह डिस्प्ले पोर्ट, एचडीएमआई, पावर, यूएसबी, और वीजीए सहित कई पोर्ट और कनेक्टर को सपोर्ट करता है।
यह कनवर्टर 100 वाट तक विद्युत शक्ति प्रदान कर सकता है। जबकि मैकबुक 29 वाट और ज़दातर बड़े लैपटॉप 85 से 100 वाट तक बिजली लेते हैं। इसका मतलब है कि भविष्य में यूएसबी-सी स्मार्टफोन से लेकर बड़े लैपटॉप में इलेक्ट्रिक पावर (पावर सप्लाई) प्रदान करने में सक्षम होगा। और एक युनिवर्सल चार्जिंग कनेक्टर के रूप में काम आयेगा। हालाँकि कि यूएसबी के माध्यम से लैपटॉप चार्ज करने का विचार नया नहीं है। उदाहरण के लिए लेनोवो योग 3 प्रो में  यूएसबी 3.0 पावर चार्जर का उपयोग होता है।

-यूएसबी-सी USB-C की खराबियां

यूएसबी-सी की सबसे बड़ी समस्या यह है कि यह थंडरबॉल्ट को सपोर्ट नहीं करती। थंडरबॉल्ट को इंटेल और ऐप्पल ने मिलकर डिज़ाइन किया था। दूसरी समस्या यह है कि यूएसबी-सी चूँकि अभी फैलना शुरू होई है इसलिए आपको इसे उपयोग करने के लिए अतिरिक्त एडाप्टर की आवश्यकता हो सकती है।

-आखरी बात 

एक समय था जब कंप्यूटर में  पीएस 2, पैरालाल, सीरियल सहित दर्जनों पोर्ट्स का इस्तेमाल किया जाता था। लेकिन अब यह संख्या घटती जारही है। और उम्मीद है कि गति, उपयोग में आसानी, आकर और आधुनिकता के कारण यूएसबी-सी भविष्य में इन कनेक्टरों का सबसे अच्छा विकल्प होगी। और कंप्यूटर, लैपटॉप, स्मार्टफोन या अन्य इस तरह के उपकरण खरीदते या पहले वाला बेचते समय चार्जिंग समे अन्य तारों को खरीदने या बदलने की आवश्यकता नहीं होगी। और सबसे बढ़ कर यह की तार को उल्टा सीधा लगाने के झंझंट से हमेशा के लिए छूटकारा मिलजायेगा। क्योंकि इसके नर और मादा भागों (मेल, फीमेल) एक जैसे बनाये जाते हैं।

अपना कमेन्ट लिखें

कृपया कमेंट बॉक्स में किसी भी स्पैम लिंक को दर्ज न करें।

और नया पुराने
Sidebar ADS

asbaq.com

हिन्दी न्यूज़ की लेटैस्ट अपडेट के लिए हमे टेलीग्राम पर जॉइन करें

क्लिक करके जॉइन करें